site stats

KananNath

KananNath/

ATC Coin VS BTC Bitcoin

ATC Coin VS BTC Bitcoin एटीसी सिक्का एक क्रिप्टोक्रैजेंसी है जो कि बिल गेट्स, वॉरन बफेट, एरिक श्मिट, और रिचर्ड ब्रानसन द्वारा अन्य किंवदंतियों के साथ समर्थित होने का दावा करता है। पता करें कि यह सिक्का आज हमारे एटीसी सिक्का समीक्षा में एक घोटाला है। एटीसी सिक्का क्या है? ATC Coin ATC Coin VS BTC Bitcoin [...]

By | September 14th, 2017|ATC Coin|0 Comments

ATC Coin Registraion Kaise Kare एटीसी सिक्का रजिस्ट्रेशन कैसे करे

ATC Coin Registraion Kaise Kare दोस्तों , अगर इस प्लान को ज्वाइन करके अपनी id Topup करने के बाद आप किसी को भी रेफर नहीं कर पाते हैं तो भी आपको , जोइनिंग अमाउंट से मिले coin का 10 % हर महीने 18 महीने तक मिलता हैं ( अभी 1 ATC coin का रेट Rs.10/- [...]

By | September 14th, 2017|ATC Coin|0 Comments

What Is ATC Coin ATC Coin क्या है

ATC Coin क्या है? What Is ATC Coin. ATC Coin क्या है? The main two benefits of ATC Coin. What Is ATC Coin. भारत में Bitcoin को टक्कर देने के लिए डिजिटल क्रिप्टो करेंसी की दुनिया में “मैन ऑफ आइडिया” के नाम से जाने जानेवाले सुभाष जेवरिया ने एक जबर्दस्त तैयारी के साथ पदार्पण किया [...]

By | September 14th, 2017|ATC Coin|2 Comments

ATC Kya Hai ATC Coin की समीक्षा – क्या यह कानूनी या घोटाला है?

ATC Kya Hai ATC Coin की समीक्षा - क्या यह कानूनी या घोटाला है? ATC Coin Kya Hai   ATC Coin सिक्का कानूनी या एक घोटाले है? आपको एक नया सिक्का, एटीसी, जो कि कुछ महीने पहले बाजार पर लॉन्च किया गया था, के बारे में बहुत कुछ सुनना चाहिए और उसके बाद से, यह [...]

By | September 7th, 2017|ATC Coin|8 Comments

अयोध्या में क्या बनना चाहिए ?

अयोध्या में क्या बनना चाहिए ? ayodhya me kya banna chahiye वोट करने के लिए यहाँ क्लिक करें - Vote Now सर्वे: अयोध्या में क्या बनना चाहिए, राम मंदिर या बाबरी मज्जिद ? नीचे क्लिक कर अपना वोट दें, क्योंकि सोशल मीडिया की राय पर सरकार भी नज़र रखती है अयोध्या में क्या बनना चाहिए [...]

वल्लभाचार्य के द्वितीय पुत्र विट्ठलनाथ जी को गुंसाई (गोस्वामी) पदवी मिली

इतिहास माना जाता है, श्री वल्लभाचार्य जी को ही गोवर्धन पर्वत पर श्रीनाथ जी की मूर्ति मिली थी। इस सम्प्रदाय की प्रसिद्धि समय के साथ बढ़ती गई। पहली बार वल्लभाचार्य के द्वितीय पुत्र विट्ठलनाथ जी को गुंसाई (गोस्वामी) पदवी मिली तब से उनकी संताने गुसांई कहलाने लगीं। विट्ठलनाथ जी के कुल सात पुत्रों की पूजन [...]

निम्नलिखित लाभ व फल प्राप्त हो सकते है: पुत्र की प्राप्ति, कार्य सिद्धि,

व्रत के फलस्वरूप निम्नलिखित लाभ व फल प्राप्त हो सकते है: पुत्र की प्राप्ति, कार्य सिद्धि, वर प्राप्ति, वधु प्राप्ति, खोया धन मिले, जमीन जायदात मिले, धन मिले, साईं दर्शन, मन की शान्ति, शत्रु शांत होना, व्यापार में वृद्धि, बांझ को भी बच्चे की प्राप्ति हो, इच्छित वास्तु की प्राप्ति, पति का खोया प्रेम मिले, [...]

By | May 31st, 2017|Aarti, KanaNath, Mantra, Nav Nath, Shree Nath Ji|1 Comment

आर्थथ डेवट सिंधंत से निरुण अष्टधत्ता सलाह सिंध्ण की प्राप्ती हो सक्ति

श्री नाथ रहस्या (हिंदी संस्करण) ईश्वर ग्रंथ के साधना दवाने सगुन आर्थथ डेवट सिंधंत से निरुण अष्टधत्ता सलाह सिंध्ण की प्राप्ती हो सक्ति है। ग्रंथ की अंतरगढ़ देवी देवता नाथ सिद्धो से पुजाने वाले कर्म योग, भक्ति योग, का फल्ह हॉग। मंत्र, तंत्र, अनुष्ठान आदि बौद्ध ध्यान यौग, तंत्र सिद्धिद्वार तंत्र योग का योगिक सिद्धांत [...]

By | May 31st, 2017|KanaNath, Katha, Mantra, Nath Samaj, Nav Nath, Shree Nath Ji|0 Comments

समय अथवा अवसर, राग एवं उनके रचियता के आधार पर विभिन्न

जय श्री कृष्णा ॥ जय श्री कृष्णा ॥ यह ब्लाग पुष्टिमार्गीय साहित्य को हिन्दी(देवनागरी) में अंतरजाल पर उपलब्ध कराने का एक छोटा सा प्रयास है। मुख्यतः यहाँ नित्य पाठ एवं स्तोत्र, षोडश ग्रंथ, नित्य सेवा में गाये जाने वाले कीर्तन (मंगला, श्रृंगार, राजभोग, शयन) एवं विविध उत्सवों पर गाये जाने वाले कीर्तन शामिल करने का [...]

By | May 31st, 2017|Aarti, KanaNath, Katha, Mantra, Shree Nath Ji|0 Comments

श्रीनाथजी आगे बढे आ रहे है। तब तो श्रीमद् वल्लभाचार्य

गोलोक धाम में मणिरत्नों से सुशोभित श्रीगोवर्द्धन है। वहाँ गिरिराज की कंदरा में श्री ठाकुरजी गोवर्द्धनाथजी, श्रीस्वामिनीजी और ब्रज भक्तों के साथ रसमयी लीला करते है। वह नित्य लीला है। वहाँ आचार्य जी महाप्रभु श्री वल्लभाधीश श्री ठाकुरजी की सदा सर्वदा सेवा करते है। एक बार श्री ठाकुरजी ने श्री वल्लभाचार्य महाप्रभु को देवी जीवों [...]

By | May 31st, 2017|Aarti, KanaNath, Mantra, Nav Nath, Shree Nath Ji|0 Comments
KanaNath Pundlota - कानानाथ योगी आपका हार्दिक स्वागत करता है.