भगवान मैं सेवा बीच मे नही छोड़ सकता

[wp-review]

🙏आखिर तक पढ़ना 🙏 ⏰1 मीनट लगेगा 💘एक बालक अपने 🙏माँ-बाप की खूब सेवा किया करता था 💞उसके दोस्त उससे भी कहते कि 🌹अगर इतनी सेवा तुमने 💜भगवान की की होती तो तुम्हे 🌻भगवान मिल जाते ! 💙लेकिन इन सब चीजो से 💐अनजान वो अपने 💔माता पिता की सेवा करता रहा ! 🌺एक दिन उसकी माँ बाप की 💛सेवा-भक्ति से खुश होकर 🌷भगवान धरती पर आ गये ! 💘उस वक्त वो बालक अपनी 💚माँ के पाँव दबा रहा था ! 🌲भगवान दरवाजे के बाहर से बोले- ❤दरवाजा खोलो बेटा 🍀मैं तुम्हारी माता-पिता की सेवा से 💖प्रसन्न होकर तुम्हे 🌳वरदान देने आया हूँ ! 💞बालक ने कहा – 🌸इंतजार करो प्रभु 💛मैं माँ की सेवा मे लगा हूँ ! 🙏भगवान बोले – 💐देखो मैं वापस चला जाऊँगा! 💘बालक ने कहा – 🌵आप जा सकते है ❤भगवान मैं सेवा बीच मे 🌲नही छोड़ सकता ! 💚कुछ देर बाद 🌳उसने दरवाजा खोला तो 💜क्या देखता है 🌷भगवान बाहर खड़े थे ! 💙भगवान बोले – 🌹लोग मुझे पाने के लिये 💔कठोर तपस्या करते है 🌻पर मैं तुम्हे सहज ही मे मिल गया 💖पर तुमने 🍀मुझसे प्रतीक्षा करवाई ! 💞बालक ने जवाब दिया – 🌺हे ईश्वर जिस माँ बाप की सेवा ने 💛आपको मेरे पास आने को 💐मजबूर कर दिया 💕उन माँ बाप की सेवा बीच मे छोड़कर 🌵मैं दरवाजा खोलने कैसे आता ! 💘यही इस जिंदगी का सार है ! 🌲जिंदगी मे हमारे ❤माँ-बाप से बढ़कर कुछ नही है ! 🌳हमारे माँ-बाप ही 💚हमे ये जिंदगी देते है ! 🌷यही माँ-बाप अपना 💜पेट काटकर बच्चो के लिये 🌻अपना भविष्य खराब कर देते है 💙इसके बदले 🍀हमारा भी ये फर्ज बनता है कि 💔हम कभी उन्हे दुःख ना दे ! 🌺उनकी आँखो मे 💖आँसू कभी ना आये 💐चाहे परिस्थिति जो भी हो 💞प्रयत्न कीजियेगा! 🌹आपकी माँ की कसम 💛दोस्तों इस पोस्ट को 🌵अपने 7-8 दोस्तों के साथ 💕जरुर शेयर कीजिये ………!! 🙏धन्यवाद दोस्तों 💘 आपका आभारी रहुगा

 

कण कण में विष्णु बसें, जन जन में श्री राम! प्राणों में माँ जानकी, मन में बसे हनुमान!!दो चीजों को कभी व्यर्थ नहीं जाने देना चाहिए….. अन्न के कण को “और” आनंद के क्षण को हमेशा मुस्कुराते रहिए….😊 कभी अपने लिये कभी अपनों के लिये *💫✍🏻,, 🙏🏻जय श्री राम🙏🏻 🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹 🍃🐥🍃

पिता बेटे को डॉक्टर बनाना चाहता था। बेटा इतना मेधावी नहीं था कि PMT क्लियर कर लेता। इसलिए दलालों से MBBS की सीट खरीदने का जुगाड़ किया गया। जमीन, जायदाद जेवर गिरवी रख के 35 लाख रूपये दलालों को दिए, लेकिन वहाँ धोखा हो गया। फिर किसी तरह विदेश में लड़के का एडमीशन कराया गया, वहाँ भी चल नहीं पाया। फेल होने लगा.. डिप्रेशन में रहने लगा। रक्षाबंधन पर घर आया और यहाँ फांसी लगा ली। 20 दिन बाद माँ बाप और बहन ने भी कीटनाशक खा के आत्म हत्या कर ली। अपने बेटे को डॉक्टर बनाने की झूठी महत्वाकांक्षा ने पूरा परिवार लील लिया। माँ बाप अपने सपने, अपनी महत्वाकांक्षा अपने बच्चों से पूरी करना चाहते हैं … मैंने देखा कि कुछ माँ बाप अपने बच्चों को Topper बनाने के लिए इतना ज़्यादा अनर्गल दबाव डालते हैं कि बच्चे का स्वाभाविक विकास ही रुक जाता है। आधुनिक स्कूली शिक्षा बच्चे की Evaluation और Grading ऐसे करती है जैसे सेब के बाग़ में सेब की खेती की जाती है। पूरे देश के करोड़ों बच्चों को एक ही Syllabus पढ़ाया जा रहा है ……. For Example – जंगल में सभी पशुओं को एकत्र कर सबका इम्तहान लिया जा रहा है और पेड़ पर चढ़ने की क्षमता देख के Ranking निकाली जा रही है। यह शिक्षा व्यवस्था ये भूल जाती है कि इस प्रश्नपत्र में तो बेचारा हाथी का बच्चा फेल हो जाएगा और बन्दर First आ जाएगा। अब पूरे जंगल में ये बात फ़ैल गयी कि कामयाब वो जो झट से कूद के पेड़ पर चढ़ जाए। बाकी सबका जीवन व्यर्थ है। इसलिए उन सब जानवरों के, जिनके बच्चे कूद के झटपट पेड़ पर न चढ़ पाए, उनके लिए कोचिंग Institute खुल गए, व्हाँ पर बच्चों को पेड़ पर चढ़ना सिखाया जाता है। चल पड़े हाथी, जिराफ, शेर और सांड़, भैंसे और समंदर की सब मछलियाँ चल पड़ीं अपने बच्चों के साथ, Coaching institute की ओर …….. हमारा बिटवा भी पेड़ पर चढ़ेगा और हमारा नाम रोशन करेगा। हाथी के घर लड़का हुआ ……. तो उसने उसे गोद में ले के कहा- ‘हमरी जिन्दगी का एक ही मक़सद है कि हमार बिटवा पेड़ पर चढ़ेगा।’ और जब बिटवा पेड़ पर नहीं चढ़ पाया, तो हाथी ने सपरिवार ख़ुदकुशी कर ली। अपने बच्चे को पहचानिए। वो क्या है, ये जानिये। हाथी है या शेर ,चीता, लकडबग्घा , जिराफ ऊँट है या मछली , या फिर हंस , मोर या कोयल ? क्या पता वो चींटी ही हो ? और यदि चींटी है आपका बच्चा, तो हताश निराश न हों। चींटी धरती का सबसे परिश्रमी जीव है और अपने खुद के वज़न की तुलना में एक हज़ार गुना ज्यादा वजन उठा सकती है। इसलिए अपने बच्चों की क्षमता को परखें और जीवन में आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित करें.. हतोत्साहित नही…… SAVE HUMAN BEHAVIOUR FIRST. Love parents🙏🏻

धरती फाटै मेघ मिलै, कपडा फाटै डौर, तन फाटै को औषधि, मन फाटै नहिं ठौर। जब धरती फटने लगे अर्थात दरारे पड़ जाये तो मेघों द्वारा जल बरसाने पर दरारें बन्द हो जाती हैं और वस्त्र फट जाये तो सिलाई करने पर जुड़ जाता है। चोट लगने पर तन में दवा का लेप किया जाता है, जिससे शरीर का घाव ठीक हो जाता है किन्तु मन के फटने पर कोई औषधि या उपाय कारगर सिद्ध नहीं होता। अतः प्रयास रहे कि आपकी वाणी से किसी को ठेस न लगे। 🌺 ।।सुप्रभातम।।🌺
10:17 PM
💐🌹🙏🏻सुप्रभात🙏🏻🌹💐 💐बुद्धिमान वह है💐 जो सबसे कुछ सीख लेता है; 🌹शक्तिशाली वह है,🌹 जिसका अपनी इच्छाओं पर नियंत्रण है; 🌹सम्मानित वह है 🌹 जो दूसरों का सम्मान करता है, 🌹और धनवान वह है 🌹 जो अपने पास जो भी है, उससे ही प्रसन्न है।” 💐आपका दिन शुभ एवं मंगलमय हो💐 💐🌹🙏🏻🙏🏻🌹💐  🌹🌹🌹Jai Gurudev 🌹🌹🌹
10:23 PM
💞💕💐जय माता दी 💐💕💞 🌺🌼🌸🌼🌸🌼🌸🌺 माँ भगवती वैष्णो देवी के आने वाले चैत्र नवरात्रो की आप सभी को बहुत-बहुत बधाई🙏 और माँ भगवती की और से भौरी भौरी आशीर्वाद🙌 माँ भगवती की किस प्रकार से पूजा ,चोला और भोग मैने सभ कुछ साथ साथ लिख दिया है 🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹 💓🌼🌸माँ भगवती वैष्णो देवी जगदम्बा के नवरात्रे 💞💕🌸🌼 🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹 18 मार्च 2018 शुभ दिन रविवार 1. पहला नवरात्रा ,18-03-2018 रविवार, माँ शैलपुत्री जी, चोला (मैरुन). भोग (सफेद चीजें, या गांय के घी से बनी). यह सब करने से, सभी प्रकार के रोगो से मुक्ति मिल जाती है. 2. दूसरा नवरात्रा,19-03-2018 सोमवार, माँ बर्मचारणी जी, चोला (सफ़ेद).भोग (मिश्री, चिनी, पँचामरित भोग (लोंग, ईलाईची, सुपारी, सात पान के पत्ते, मिश्री.),और दान करने से लम्बी आयु होती है. 3. तीसरा नवरात्रा, 20-03-2018, मंगलवार, माँ चंद्रधणटा जी, चोला (केसरी), भोग (दूध और उससे बनी चीजें) दान करने से माँ भगवती खुश होती है और दुःखो का नाश करती है . 4. चौथा नवरात्रा 21-03-2018, बुधवार, माँ कुष्मांडा जी, चोला (रानी) ,भोग खीर और मालपुएँ का भोग, बरामण को दान करने से और खुद भी खाने से , बुध्दि का विकास होता है. 5. पाचँवा नवरात्रा, 22-03-2018, वीरवार, माँ सकंदमाता जी, चोला (पीला),भोग केले का भोग ,पाँच भिखारीयों को केले दान करने से ,शरीर सवचछ होता है. 6. छटा नवरात्रा, 23-03-2018, शुक्रवार, माँ कात्यानी देवी, चोला (नेवी ब्लू), भोग मघु (शहद) का भोग लगाने से, साधक सुंदर रूप परापत होता है . 7. सतवां नवरात्रा 24-03-2018, शनिवार , माँ कालरात्रि जी , चोला (हरा) , भोग (गुड़ और चना) का भोग लगाने से मनुष्य शेकमृत्क होता है . 🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏 💞 नवरात्रे समाप्त 💕 8. माँ भगवती की अष्टमी और नवमी,25-03-2018,शनिवार, माँ वैष्णोवदेवी, माँ माहागौरी जी,माँ सिधीदात्री जी चोला (लाल) ,भोग (नारियल और चना पुडी़ )का भोग लगाने से माँ भगवती सबकी मनोकामना पूर्ण करती है और जीवन में सुख शांति मिलती है !! माँ भगवती वैष्णो देवी जगदम्बा आप सभी को ख़ुशीयां दे करे, आपकी जीवन यात्रा को सार्थक करे, आपकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण करे, सब के शब्द मनोरथ पूर्ण करे, आप सभी का मंगल ही मंगल करे !! 🌸🌸🌺🌺🌼🌼🌸🌸 💕💞💐 जय माता दी 💐💕💞 इस बार अष्टमी और नवमी एक ही दिन है मेरी तरफ से भी नवरात्रों की आप सभी को बहुत बहुत बधाई 😊 💕💞💐जय माता दी 💐💕💞
10:34 PM
आपको ओर आपके पूरे परिवार को नवरात्रि की बहुत बहुत शुभकामनाएं😊🙏🏻 यह मानव तन एक साधन है जो हम सभी को प्रभु की कृपा से मिला है। मानव तन को सब योनियों में सबसे महान् कहा गया है। क्योंकि यह आत्मा अपने माता रानी के ज्योति स्वरूप से मिलने का यह मानव तन ही साधन है। मानव तन बार-बार नही मिलता है। इसलिए अपने मानव तन को प्राप्त कर इसे व्यर्थ न गवाएँ ओर इसका लाभ उठाएं। माता वैष्णव देवी भागवत मे कहती है—- नाहं तीर्थ न कैलासे वैकुण्ठ वा न करहिचित। वासमि किंतु मज्ञानिह्रदयदयानभोजमध्ये श्रीमद देवी भागवत—7/36/18 माता कह रही है की– न मैं तीर्थ में, न ही कैलाश मे,न बैकुंठ में ही निवास करती हूँ। मै तो अपने ज्ञानी भक्तबके ह्रदय कमल मे निवास करती हूं। माता हम सबके भीतर है और यह मानव तन एक साधन है बुलावा है माता वैष्णव की इसका लाभ उठाएं और अपने मानव जीवन का कल्याण करें….😊🙏🏻 माता वैष्णव हमारे भीतर है लेकिन हम अपने भीतर के गहराई में उतरे कैसे??🤔 🚩स्वयं विचार करें आप🚩 सर्व श्री आशुतोष महाराज जी के शिष्य 🙏🏻🚩जय माता दी🚩🙏🏻

Leave a Reply

Kana Nath - Welcome To KanaNath Call Me 9982423683.